#UPDATED# Latest and New Sad Status in Hindi Whatsapp

0
113
sad status in hindi

Sad Status in Hindi: If you are very sad, very sad with the crucial days of your life then why not share it with your friends or to someone who loves and cares for you. you can also share it with your facebook friends or with your whatsapp groups so there their consoling and best wishes can help you to over come the sad environment. I know this will not finish your problem but I am sure it will really help you to get somewhat lightened from inner heart. This will make mind and soul light and after making it light you can think wisely how to finish problem.  Share these sad status in hindi, sad whatsapp status,to your Indian friends and family.

आज हर कोई दुखी है , कोई धन न होने से दुखी, कोई धन सँभालने मैं दुखी, कोई प्यार न पाने पर दुखी, कभी भविष्य के लिए दुखी, ऐसे लोगो के लिए Whatsapp Sad Status in Hindi.

 

Whatsapp Status in Hindi

रोज़ ख्वाबों में जीता हूँ वो ज़िन्दगी … जो तेरे साथ मैंने हक़ीक़त में सोची थी ..

कौन है इस जहाँ मे जिसे धोखा नहीं मिला,
शायद वही है ईमानदार जिसे मौक़ा नहीं मिला.

हमने तो एक ही शख्स पर चाहत ख़त्म कर दी .. अब मोहब्बत किसे कहते है मालूम नहीं..

 

जुबां तीखी हो तो खंजर से गहरा जख्म देती है,
और मीठी हो तो वैसे ही कत्ल कर देती है.

उनके हाथ पकड़ने की मजबूती जब ढीली हुई तो एहसास हुआ शायद ये वही जगह है जहां रास्ते बदलने है ….

नहीं मिला कोई तुम जैसा आज तक,

पर ये सितम अलग है की मिले तुम भी नही.

 

मुमकिन नहीं शायद किसी को समझ पाना … बिना समझे किसी से क्या दिल लगाना

ये भी एक तमाशा है, इश्क और मोहब्बत में

दिल किसी का होता है और बस किसी का चलता है.

 

 

अल्फ़ाज़ के कुछ तो कंकर फ़ेंको, यहाँ झील सी गहरी ख़ामोशी है।

मैं उस किताब का आख़िरी पन्ना था,

मैं ना होता तो कहानी ख़त्म न होती.

 

अब अकेला नहीं रहा मैं यारों …. मेरे साथ अब मेरी तन्हाई भी है।

तुमको बहार समझ कर, जीना चाहता था उम्र

भर,भूल गया था की मौसम तो बदल जाते हैं.

 

किसी को प्यार करो तो इतना करों की उसे जब भी प्यार मिलें… तो तुम याद आओ….

खुदको मेरे दिल में ही छोड़ गई हो,

तुझे तो ठीक से बिछड़ना भी नहीं आया.

 

वो सुना रहे थे अपनी वफाओं के किस्से हम पर नज़र पड़ी तो खामोश हो गए।

टूटे मक़ान वाला, दिल में ताजमहल रखता हूँ,

बात गहरी मगर अल्फ़ाज़ सरल रखता हूँ.

 

भरम है .. तो भरम ही रहने दो …. जानता हूं मोहब्बत नहीं है …पर जो भी है … कुछ देर तो रहने दो

 

जिस “चाँद” के हजारों हो चाहने वाले दोस्त,

वो क्या समझेगा एक सितारे कि कमी को.

 

लफ्ज़ बीमार से पड़ गये है आज कल…..एक खुराक तेरे दीदार की चाहिए

सुना है आज उस की आँखों मे आसु आ गये, वो बच्चो को सिखा रही थी की मोहब्बत ऐसे लिखते है.

 

कैसे करूँ मैं साबित…कि तुम याद बहुत आते हो…एहसास तुम समझते नही…और अदाएं हमे आती नहीं…

हमें भी शौक था दरिया -ऐ इश्क में तैरने का,

एक शख्स ने ऐसा डुबाया कि अभी तक किनारा न मिला.

 

काश तू मेरी मौत होती तो एक दिन मेरी ज़रूर होती।

कल रात मैंने अपने सारे ग़म,

कमरे की दीवार पर लिख डाले,

बस फिर हम सोते रहे और दीवारे रोती रही.

 

खुद से मिलने की भी फुरसत नहीं है अब मुझे,और वो औरो से मिलने का इलज़ाम लगा रहे है…

क़यामत के रोज़ फ़रिश्तों ने जब माँगा उससे ज़िन्दगी का हिसाब,

ख़ुदा, खुद मुस्कुरा के बोला, जाने दो, ‘मोहब्बत’ की है इसने.

लुट लेते है अपने ही वरना,

गैरों को कहां पता इस दील की दीवार कहां से कमजोर है.

 

रात भर जागता हूँ एक एसे सख्श की खातिर… जिसको दिन के उजाले मे भी मेरी याद नही आती..तेरे होने तक मैं कुछ ना था…. तेरा हुआ तो मैं बर्बाद हो गया

इश्क लिखना चाहा तो कलम भी टूट गयी….ये कहकर अगर लिखने से इश्क मिलता तो आज इश्क से जुदा होकर कोई टूटता नही

हुस्न वाले जब तोड़ते हैं दिल किसी का,बड़ी सादगी से कहते है मजबूर थे हम.

 

तू हजार बार रुठेगी फिर भी तुझे मना लूँगा …तुझसे प्यार किया हे कोई गुनाह नही, जो तुझसे दूर होकर खुद को सजा दूँगा

इरादा कत्ल का था तो ~मेरा सर कलम कर देते,

क्यू इश्क मे डाल कर तुने ~हर साँस पर मौत लिख दी.

आज के बाद ” ये रात और तेरी बात ” नहीं होगी?

 

धोखा देने के लिए ‪#‎शुक्रिया पगली कि,

#‎तुम ना मिलती तो ‪#‎दुनिया_समझ में ‪#‎ना आती.

टूट कर चाहा था तुम्हे और तोड़ कर रख दिया तुमने मुझे ?

मेरे दिल से खेल तो रहे हो तुम पर जरा सम्भल के,

ये थोडा टूटा हुआ है कहीं तुम्हे ही लग ना जाए.

 

ये दुःख , उदासी , आँसुओं को मौत क्यों नहीं आती ????

जिस जिस ने मुहब्बत में, अपने महबूब को खुदा कर दिया,

खुदा ने अपने वजूद को बचाने के लिए, उनको जुदा कर दिया.

 

जा तुझे तेरे हाल पर छोड़ दिया … इससे बेहतर तेरी सज़ा क्या होगी

निकलते आँसुओं को देखकर सोचती हैं आँखें,
आखिर और कितना वक़्त लगेगा सारे ख्वाबों को बहने में.

दुनिया जीत गयी … दिल हार गया ??

मैं खुद कभी बेचा करता था, दर्दे दिल   की दवा  ,
आज वक़्त   , मुझे अपनी ही दुकान पर ले आया.

अकेले रहने में और अकेले होने में फर्क होता है?

होता अगर मुमकिन, तुझे साँस बना कर रखते सीने में,
तू रुक जाये तो मैं नही, मैं मर जाऊँ तो तू नही…..

मगर वो एक शख्स ही मेरी आखिरी मोहब्बत है….

खुद को माफ़ नहीं Kar पाओगे, जिस दिन जिंदगी में हमारी कमी पाओगे.

कहाँ पूरी होती है दिल की सारी ख्वाइशें —- कि बारिश भी हो , यार भी हो …. और पास भी हो

दर्द दिलो के कम होजाते अगर में और तुम हम होजाते!

 

सच केहरहा हैं ये दीवाना, दिल्ना किसीसे लगाना!
वो उदासी भर लम्हा —- जब उनके पास आपके इलावा सब के लिए टाइम होता है ??

कभीभी अपनी ख़ुशी किसी और के हाथ में मत सपना!

ना रहा करो उदास किसी बेवफा की याद में , वो खुश है अपनी दुनिया में तुम्हारी दुनिया उजाड़ कर ??

मुझे रुलाकर सोना तेरी आदत बन गयी है .. जिस सुबह मेरी आँख न खुली उस दिन तुझे तेरी अपनी ही नींद से नफरत हो जाएगी ??

सच्ची मोहबत तो अक्सर दिलतोड़ने वालीसेही होती हैं! 5. अब नींदसे कोई वास्ता नहीं! मेरा कौन हैं, ये सोच सोच के रात गुज़र जाती हैं!

 

कैसे करे इंतजार तेरे लौट आने का, अभी दिल को यकीन नहीं हुआ है तेरे चले जाने का !
हम तो हद से गुजर गए थे तुम्हे चाहने में …. तुम्ही उलझे रहे हमे आजमाने में??

उसने कहा था आँख भरके देखा करो, अब आँख भर आती हैं पर वो नज़र नहीं आती!
मोहब्बत में हमेशा अपने आप को बादशाह समझा हमने मगर एहसास तब हुआ जब किसी को माँगा फकीरों की तरह ????

 

इ सितमगर, कदर किया होती हैं तुजे वक़्क़त बताएगा!

वादो से बंधी जंजीर थी जो तोड दी मैँने, अब से जल्दी सोया करेंगे , मोहब्बत छोड दी मैँने….

 

साँसोका टूटजाना तो आमबात हैं, जहा अपने बदलजाये मोत तो तब आती हैं!
हमें तो प्यार के दो लफ़्हज़ भी ना नसीब हुए.. और बदनाम ऐसे हुए जैसे इश्क़ के बादशाह थे हम ????

 

गर वो मेरी होजाती, तो में दुन्यकी सारी कितबोसे लफ़्ज़े बेवफा मिटादेता.

कौन करता है यहाँ प्यार निभाने के लिये,दिल तो बस एक खिलौना है जमाने के लिये !!

सुन रहा हैं न तो रोरहाहू मे..

 

आते आते उनको आँख में पानी छोड़ आये – दिल तो साथ ले आये पैर धड़कन छोड़ आये

तुम रख न सकोगे मेरा तोहफा संभालकर, वरना मैं अभी दे दूँ, जिस्म से रूह निकालकर…

वो जुदा तो हमसे मुस्कुराते होए हुवे मगर अपनी आखो से आंसू मिटान भूल गये

 

वो जा रही थी और मैं खामोश खड़ा देखता रहा, क्योंकि सुना था कि पीछे से आवाज़ नहीं देते..!

आज लगता हैं सारा जाहा वीराना हमको – जैसे चमन में फूल खिल न बंद हो गए

इतना कुछ हो रहा है..दुनिया में, ……क्या तुम मेरे नही हो सकते..

मोहब्बत तो दिल से की थी, दिमाग उसने लगा लिया…. दिल तोड दिया मेरा उसने और इल्जाम मुझपर लगा दिया

 

हमने मिटादिया साडी जगह से उसका नाम बस दिल से मिटाना रहगया

जो दिल में आये वो करो…. बस किसी से अधूरा प्यार मत करो

 इस आह से छोड़ जाऊंगा ये दुन्या के शायद मेरा मारना ही काम आ जाये

 

आँखें थक गई है आसमान को देखते देखते ? पर वो तारा नहीं टूटता ,जिसे देखकर तुम्हें मांग लूँ….????

सब ही इंसान हैं कुछ ज़ख़्म देते हैं और कुछ ज़ख़्म भर ते हैं

 ए बेवफा चाहुतो कहदू ज़मनेसे दास्तान अपनी, मगर उमे तेरा नाम आएगा इसी लिए चुप हु

 

जो उड गये परिंदे उनका क्या अफसोस करें….यहां तो पाले हुए भी गैरों की छतों पर उतरते हैं…!!!

उसकी आखरी मुलाकात के बाद मेने सुभाह नहीं देखी

तेरे बिना जीना मुश्किल है …! ये तुझे बताना और भी मुश्किल है….

अभी तो ठीक से उसको जाना भी नहीं था और वो जाने की बात कर ते हैं

 

किस किस से वफ़ा के वादे कर रखे हैं तूने ??? हर रोज़ एक नया शख्स मुझसे तेरा नाम पूछता है

आज लगता हैं बेवफा ज़ख़्म भर ते हैं, अभी तो ठीक से उसको जाना भी नहीं

रोकना मेरी हसरत थी जाना उसका शौक। वो शौक पूरा कर गए मेरी हसरतें तोड़ कर।

 

? मोहब्बत की अदालत से मेरी दर्खास्त कर दो, बहुत काट ली सजा, यादों से अब रिहा कर दो।

ढूंढ तो लेते अपने प्यार को हम, शहर में भीड़ इतनी भी न थी..पर रोक दी तलाश हमने, क्योंकि वो खोये नहीं थे, बदल गये थे

मैंने पूछा उनसे, भुला दिया मुझको कैसे…? चुटकियाँ बजा के वो बोली… ऐसे, ऐसे, ऐसे

चाह से ज्यादा, चाहने की चाह, मुझे भी थी उसे? लेकिन क्या फायदा ऐसी चाह? का, जो चाहकर भी ना बन सके मेरी चाह? ??

तुझे ? ? इस तरह से याद करने लगे हैं लाहुँ बानके आँसू बरसने लगे हैं??

 

आज कल वो ?हमसे डिजिटल नफरत? करते हैं, हमें ऑनलाइन देखते ही ऑफलाइन हो जाते हैं..

आजकल के दिल बहुत छोटे हो गये है, बहुत जल्द भर जाते है!

हमारी चर्चा छोडो दोस्तों, हम ऐसे लोग है जिन्हें, नफरत कुछ नहीं कहती और मोहब्बत मार डालती है…

बदल गई है रुत मेरी इन आँखों की, बरसात होती रहेती है घडी-घडी!

मै ?फिर याद ?आऊंगा उस? दिन? जब तेरे ही बच्चे? कहेंगे-मम्मी ?आपने कभी किसी ?से प्यार ?किया ???

…………………………………………………………………………………………………..

उसी को याद रखा उम्रभर तूने ए दिल, जिसे भूल जाना चाहिये था!

बेवफा लोग बढ़ रहे हैं धीरे धीरे, इक शहर अब इनका भी होना चाहिए…

दिल ही उदास हे। बाकी सब कुछ ठीक है!

I hope you will like all these sad status in hindi.

 

(Visited 7 times, 1 visits today)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here